College History






   वृंदावन (मथुरा) के प्रतिष्ठित कथा वाचक श्री विजय कौशल महराज नगर पंचायत मुसाफिरखाना के वार्ड नम्बर 04 पूरे शिवा तिवारी में रामचरित की कथा करने आ रहे थे| यह नगर पंचायत मुसाफिरखाना के लिए एक गौरव का विषय था| महराज जी को रेलवे स्टेशन मुसाफिरखाना से पूरे शिवा तिवारी(कथा स्थल) पर लाने के लिए नगर की सभी सम्भ्रान्त व गणमान्य व्यक्ति रेलवे स्टेशन पर उपस्थित थे| ट्रेन आने में विलम्ब था| रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म पर ही नगर के विभिन्न क्षेत्रों की लगभग 150 लडकियाँ सुलतानपुर जाने वाली पैसेंजर ट्रेन की प्रतीक्षा कर रही थी| ज्ञात करने पर मालूम हुआ कि नगर में लड़कियों का महाविद्यालय(कला वर्ग) न होने के कारण इतनी लड़कियां प्रतिदिन बी. ए . की शिक्षा के लिए सुलतानपुर आती जाती है| इससे पूर्व क्षेत्रीय विधायक श्री राम सेवक धोबी के माध्यम से राजकीय महाविद्यालय मुसाफिरखाना में कला संकाय प्रारम्भ किये जाने के लिए प्रदेश सरकार से कई बार अनुरोध किया जा चूका था| सुलतानपुर जनपद में होने वाली जिला योजना के बैठकों में भी यह योजना लागू कराये जाने के प्रस्ताव पारित कराये जा चुके थे| असफलता की स्थिति में श्री त्रिपाठी ने स्वंय, सहयोगी मित्रों नगर के गणमान्य व सम्भ्रान्त नागरिको के बल पर महाविद्यालय के निर्माण का प्रयास किया, जो सब के सहयोग व आशीर्वाद से सफल रहा|

   समाज के लिए जो कार्य करता है समाज की उससे अपेक्षाये बढ़ जाती है| विद्यालय के प्रबन्धक श्री भोलानाथ त्रिपाठी ने वर्ष 2000 में अपनी पत्नी श्रीमती कमला त्रिपाठी के नगर पंचायत अध्यक्ष बनने के बाद राजकीय कन्या हाईस्कूल मुसाफिरखाना के भवन निर्माण में तत्कालीन सांसद अमेठी मा० श्रीमती सोनिया गाँधी एवं क्षेत्रीय विधायक श्री राम सेवक धोबी की मदद से राजकीय कन्या हाईस्कूल का भवन बनवाया था| समाज ने श्री त्रिपाठी से कला वर्ग की स्नातक शिक्षा की कमी अपने स्तर से दूर करने की अपेक्षा की जिसे उन्होंने सहर्ष स्वीकार कर महाविद्यालय को संचालन स्तर तक पंहुचा दिया| मंगलम् समाज कल्याण एवं शिक्षण संस्थान परिवार इसी ब्लाक के ग्राम नंदौर अंतर्गत त्रिलोकीपुर निवासी श्री उमाशंकर मिश्र के प्रति विशेष आभार व्यक्त करता है, जिन्होंने बालिकाओं की शिक्षा के लिए अपनी 11 विश्वा कृषि योग्य भूमि दान देकर महाविद्यालय निर्माण में विशेष सहयोग दिया| शिक्षण संस्थान मुसाफिरखाना नगर एवं क्षेत्र से जुड़े उन महान व्यक्तियों के प्रति भी अपना अभार प्रकट करता है जिन्होनें भवन निर्माण की लिए संस्थान को आर्थिक सहयोग दिया| संस्थान नगर के रेलवे स्टेशन मोहल्ले के निवासी श्री दिनेश सिंह उर्फ़ पप्पू के प्रति भी भवन निर्माण में आपार सहयोग के लिए अभार प्रकट करता है जिनके विशेष सहयोग से भवन निर्माण बहुत कम समय में पूर्ण हो गया|


                                                                                                            कृष्ण दत्त पाठक(संस्था सचिव)