Manager Message

    वर्ष 2003 की बात है दीपावली के दूसरे दिन (परिवा दिन) मैं पिता जी श्री त्रियुगी नाथ त्रिपाठी एक सम्भ्रान्त व्यक्ति के साथ बैठकर कुछ सामाजिक कार्य किया जाये विषय पर बात करे| बात मंदिर बनवाने की आई तो शंका हुई कि भविष्य में पूजा पाठ ठीक से नही होगा, धर्मशाला बनवाया जाय तो बाद में आश्रित लोग हिस्से के लिए झगड़ा करेगे| पिताजी ने कहा कि अध्यापन कार्य से अवकाश ग्रहण करने के बाद यदि मैं बेरोजगार हुआ, तो तुम दोनों की कमाही हमारे लिए व्यर्थ होगीं| इसी क्रम में बात आगे बढी यह तय किया गया कि अध्यापन कार्य से अवकाश ग्रहण करने के पश्चात् एक विद्यालय की स्थापना कर संचालन कार्य पिता जी के जिम्मे कर दिया जाय| विद्यालय का नामकरण किसके नाम पर किया जाय, चर्चा के दौरान तय हुआ कि किसी भी पारिवारिक सदस्य के नाम विद्यालय न स्थापित किया जाय, अकस्मात् पिता जी ने श्री राम चरित मानस की चौपाई "मंगल भवन अमंगल हारी" पढ़ा और तय हुआ कि मंगल से मंगलम् नाम की संस्था बनायीं जाय, एवं इस संस्था से संचालित होने वाले सभी संस्थानों के नाम का प्रथम शब्द मंगलम् ही रखा जायेगा| तत्पश्चात् मंगलम् समाज कल्याण एवं शिक्षण संस्थान नाम से 27-12-2004 को फैजाबाद में संस्था का पंजीयन कराया गया|

    संस्था के बैनर तले मंगलम् उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के लिए भूमि का बैनामा 25-04-2005 को कराया गया एवं 15 अप्रैल 2006 शनिवार को भूमि पूजन के उपरान्त विद्यालय का निर्माण प्रारम्भ हुआ| 28 जुलाई 2006 को माध्यमिक शिक्षा परिषद् उ० प्र० इलाहाबाद से मान्यता प्राप्त हुई| मात्र एक वर्ष के विद्यालय संचालन में ही मान्यता की सभी शर्ते पूरी कर ली गई| विद्यालय को अच्छे छात्र मिले, इस उद्देश्य से वर्ष 2007 में मंगलम् जूनियर हाई रूदौली प्रारम्भ किया गया| जिसकी मान्यता 15 फरवरी 2008 को प्राप्त हुई| बाद में विद्यालय एवं प्रबन्ध समिति ने मंगलम् उच्चतर माध्यमिक विद्यालय का उच्चीकरण कर मंगलम् इंटर कॉलेज मुसाफिरखाना की स्थापना किया, जिसके मानविकी (आर्ट) वर्ग व वाणिज्य वर्ग को 22-08-2009 एवं विज्ञानं वर्ग को 13-08-2010 में मान्यता प्राप्त हुई| आज इस संस्था के पास अपने 2 विद्यालय लगभग 08 बीघा जमीन मुसाफिरखाना कस्बे से सटी ग्राम पंचायत रूदौली में है| संस्था ने बालिकाओं की स्नातक शिक्षा के लिए मंगलम् महिला महाविद्यालय की स्थापना किया, जो 2012 से संचालित किया जा रहा है| संस्था द्वारा संचालित मंगलम् इंटर कॉलेज के पठन-पाठन परीक्षा एवं अनुशासन की चर्चा क्षेत्र में व्याप्त है|